Saturday, 21 September 2013

न कोई शिकवा न शिकायत



छू लें आसमान को कभी यह तमन्ना रखते है
गम मिलें याँ खुशियाँ हर हाल में खुश रहते है
न कोई शिकवा न शिकायत है अब जिंदगी से
संग हवा के चलने पर ऊँचाइयों सा मजा लेते है

रेखा जोशी