Saturday, 7 September 2013

मुस्कुराता हुआ चेहरा

तुम  इस  कदर छाये हो ख्यालों  में मेरे 
कुछ और नजर आता नही सिवा तुम्हारे 
मुस्कुराता हुआ चेहरा समाया निगाहों में 
महका गया आज वो मेरी तनहाइयों को