Saturday, 7 October 2017

मुक्तक


प्रीत  की लौ जलाने की बात कर
साजन  प्यार निभाने की बात कर
अाई  है  चमन  में  बहार   साजन
अब  गीत  गुनगुनाने की बात कर

रेखा जोशी