Sunday, 1 February 2015

खिलते रहे बगिया में यूँही पीले पीले फूल

झूम रहे
धरा पर 
पीले पीले फूल

हौले हौले
बह रही
संगीतमय लहर
दे रही हिलोरे
मदमस्त बसंती पवन
गा रहे गीत
दिल में 
गुनगुनाते  फूल

मुस्कुराते हुये 
खिलखिला रहे 
लहराते धरा  पर
पीले पीले  फूल

मन में उमंग लिये 
उड़ती जाये 
चुनरिया गोरी की 
खिलते रहे 
बगिया में यूँही 
पीले पीले फूल 

रेखा जोशी