Thursday, 26 February 2015

जी लें भरपूर ज़िंदगी

है बदल रही
ज़िंदगी
हर घड़ी हर पल
मिला जो अब
शायद
न मिले कल हमे
ढल रही हर सुबह
शाम में
जी लें भरपूर
ज़िंदगी
हर घड़ी हर पल
यह वक्त
जो है हमारा
अब
कल रहे न रहे
नैनो  में भर लो
ज़िंदगी के हसीन पल
संजो ले हसीन यादे
इन खूबसूरत पलों की
और
जीवन भर पीते रहें
हम
आनंद से भरपूर\
यह
यादों के प्याले

रेखा जोशी