Sunday, 1 February 2015

हाइकु

हाइकु  

चमक रही
सूरज की तरह
सरसों पीली
...............
बिखर गई
खुशिया सब ओर 
लाया बसंत
................
सोंधी महक 
लहराती सरसों 
आया बसंत
................
बगिया मेरी
महक उठी आज
आया बसंत
..............
नमन तुझे
दो मुझे वरदान
माता शारदे

रेखा जोशी