Thursday, 12 February 2015

न जाने कल बिछुड़ जायें कभी मीत

खिले  है  फूल  गाती  ज़िंदगी आज 
मिली  है  प्रीत  भाती  ज़िंदगी आज 
न जाने कल बिछुड़ जायें कभी मीत 
हमें साजन   मिलाती  ज़िंदगी आज 

रेखा जोशी