Monday, 23 November 2015

तड़पता दिल भूख से बिलखते बच्चे देख कर

टूटे    फूटे    झोंपड़ों     से    झाँकती   गरीबी 
नहाते बच्चे    छप्पड़ों   से   झाँकती   गरीबी
तड़पता दिल भूख से बिलखते बच्चे देख कर
फ़टे   पुराने    चीथड़ों    से  झाँकती    गरीबी

रेखा जोशी