Tuesday, 1 March 2016

उपवन में गुलाब आज महकने लगे


मेरे   अँगना  में  पँछी  चहकने लगे
नज़ारे  भी  आज  यहाँ  बहकने लगे
छाई    खूबसूरत   फूलों   की  बहार
उपवन में गुलाब आज महकने लगे

रेखा जोशी