Wednesday, 16 March 2016

रूठ कर हमसे न जाना तुम कहीं

आज फिर मौसम सुहाना आ गया 
ज़िंदगी  को  मुस्कुराना  आ गया 
रूठ  कर हमसे  न जाना तुम कहीं 
प्यार  से  साजन  मनाना आ गया 
रेखा जोशी