Tuesday, 22 March 2016

बनी रहे छाँव आँचल की सर पर सदा

कुछ  और  हमारी  ज़िंदगी  में   हो न हों
कुछ  और  सिवा  तेरे  प्यार के  हो न हो
बनी  रहे  छाँव  आँचल की सिर  पर सदा
कुछ और बस माँ की ममता के हो न हो

रेखा जोशी