Thursday, 25 August 2016

आधार छंद --- चौपाई मात्रा भार --- 16 
मापनी मुक्त
अंत में जगण (121) वर्जित |
अंत में गुरु गुरु ( अर्थात 22 / 1111 / 112 / 211) अनिवार्य |

मुरली मधुर भाये मुरारी
श्याम पर गोपियाँ  बलिहारी
..
मोर पँख  पीताम्बर सोहे
राधा लगे कृष्णा  को प्यारी
..
गोपियों संग रास रचाये
गोकुल में गिरधर  गिरधारी
..
गेंद खेलन ग्वाले आये
कालिया पर कन्हैया भारी
...
माखनचोर माँ को  सताये
कान्हा पर यशोदा वारी

रेखा जोशी