Friday, 8 August 2014

वीर (आल्हा) छंद



लुटती इज़्ज़त माँ बहनो की ,रोती  है  बालायें  आज । 
 आज पुकारे  भारत माता ,लाल बचा लो मेरी लाज ॥ 

टूट गई  डोर विश्वास की ,मिट गया अब दीन ईमान । 
जननी कहे  आँसू बहाती   , माँ बाप का करो सम्मान ॥ 

रेखा जोशी