Sunday, 16 August 2015

खन खन चूड़ी खनके माथे बिंदिया सजाऊँ

मेहँदी रचे हाथ  नाम के तोरे सजना 
है तीज का त्यौहार बाबुल तोरे अँगना
खन खन चूड़ी खनके माथे बिंदिया सजाऊँ

राह तेरी निहारूँ घर आजा मोरे बलमा 

रेखा जोशी