Friday, 20 March 2015

लालच लोभ

लालच लोभ
दिल मांगता मोर
पाये न ठौर
.................
 हाथ से गया 
लालच बुरी बला
सोने का अंडा
…………
गोरखधंधा
भ्रष्टाचार सिखाता
लोभ का अंधा
…………
लोभ का फंडा
गिराता औंधे मुहँ
किया भरता

रेखा जोशी