Friday, 23 September 2016

भूल जाओ आज परेशानियाँ तुम


बन के रह गई ज़िन्दगी अफ़साना
न आया तुमको कभी प्यार निभाना
.. 
आया नहीं करना तुम्हे प्यार सजन 
बना दिया तुमने हमको  दीवाना 
... 
देती खामोशियाँ  आवाज़  तुमको 
सुन आवाज़ मेरी  तुम  चले आना 
... 
भूल जाओ आज  परेशानियाँ तुम 
काँधे पे रख सर अपना  सो जाना 
... 
गैर नही हम तो तुम्हारे है सनम 
पराया समझ हमको न भूल जाना

रेखा जोशी