Wednesday, 15 February 2017

न याद आना न हमें सताना

121. 221. 121. 22

न याद आना न हमें सताना
न याद करना तुम भूल जाना
,
रहे न तुम पास कभी हमारे
न ज़िन्दगी में तुम पास आना
,
मिली हमे थी न ख़ुशी जहां में
न ज़िन्दगी फिर तुम मुस्कुराना
,
चले सफर में हम साथ तेरे
न सोचना साथ सजन  निभाना
,
कभी मिले थे  हम इस जहाँ में
न सोचना तुम न हमें बुलाना

रेखा जोशी