Tuesday, 22 September 2015

हो जीवन हमारा निर्मल जलधारा सा

बाँटे सभी को  प्यार जीवन  में हमारे
खुशियाँ आयें  हज़ार जीवन में हमारे
हो जीवन हमारा निर्मल जलधारा सा
न आये अब  ठहराव जीवन में हमारे

रेखा जोशी