Friday, 25 September 2015

बिन तुम्हारे हम तो अकेले ही थे भले

कब  चाहा  तुम  आओ जीवन में हमारे
खुशियाँ तुम तो पाओ जीवन में तुम्हारे
बिन  तुम्हारे  हम  तो अकेले ही थे भले
नही  चाहिये  अब  तो जीवन  में  सहारे

रेखा जोशी