Wednesday, 24 February 2016

स्फुरित हुआ तन मन उषा ने ली अँगड़ाईं

स्वर्णिम   हुई  अवनी   सुहानी   भोर  आई
चहुँ ओर पुष्पित उपवन ने महक  बिखराई
अरुण  की  लालिमा  से  जगमगाया  अंबर
स्फुरित  हुआ  तन मन उषा ने ली  अँगड़ाईं

रेखा जोशी