Sunday, 28 February 2016

इक दिन उठेगा तेरा दाना पानी

कुछ नहीं मिलता किसी को तकरार से
जी दो  दिन  की  ज़िंदगी यहाँ प्यार से
इक   दिन   उठेगा  तेरा    दाना   पानी
चला   जायेगा   छोड़  सब    संसार से

रेखा जोशी