Sunday, 12 July 2015

छुपा लिया अब हर गम मुस्कुराहट में अपनी

जहाँ  में  दर्द   से  अपना रिश्ता  निभाते  हुये 
लेकिन  प्यार  को अपने   दिल में बसाते हुये 
छुपा लिया अब हर गम मुस्कुराहट में अपनी 
है  जिये  जा  रहे  यूँहि   हम   मुस्कुराते  हुये 

रेखा जोशी