Wednesday, 29 July 2015

है समझते हम दोनों ये भाषा प्रेम की

लम्बी  गर्दन  वाले  प्यारे दोस्त मेरे
दुनियाँ में सबसे हो न्यारे दोस्त मेरे
है समझते हम दोनों ये भाषा प्रेम की
नेह   से  देख  रही  दुलारे  दोस्त मेरे
रेखा जोशी