Sunday, 5 July 2015

बीती ज़िंदगी बहाते आँसू नैनो से

बहुत की कोशिश छुपाते आँसू नैनो से
टूटी   आशा   भी  रोते  आँसू   नैनों  से
न जाने ऐसी क्या खता हुई हमसे यहाँ
बीती   ज़िंदगी  बहाते  आँसू   नैनो  से

रेखा जोशी