Tuesday, 2 December 2014

हो सवार सात घोड़ों के रथ पर भानु देव

हर सुबह  सुनहरी रश्मियाँ बिखेर देता है
हटा तम जगत को वह प्रकाशित कर देता  है
हो सवार सात घोड़ों के रथ पर  भानु देव
कण कण में धरा  के नवजीवन भर देता है

रेखा जोशी