Tuesday, 23 December 2014

फैलाओ तुम पँख [ ताँका ]

पथ कठिन 
फैलाओ तुम पँख 
लम्बी उड़ान
नही मानना हार
है मन में विश्वास

रेखा जोशी