Friday, 26 December 2014

दुखायें न किसी का दिल लो थाम रहें हाथ


सभी आज मनाये मिल जुल के  हम त्योंहार 
सभी  आज करें अब  मिल  सपने हम साकार 
दुखायें  न  किसी  का  दिल लो  थाम रहें हाथ 
सभी  आज  भुला  दर्द तड़प   दें  हम  उपहार 

रेखा जोशी