Wednesday, 17 December 2014

लिपटे है देखो अब कफन में


गए थे सुबह 
स्कूल यूनिफार्म में 
लिपटे है देखो 
अब कफन में 
बुझ गए 
चिराग 
घरों के जिनके 
घुप अंधेरों में कटेगी 
अब ज़िंदगी 
उनकी 
पत्थर दिल जिनके 
माँ की ममता 
वह 
क्या जानें 

रेखा जोशी