Sunday, 14 December 2014

लहराया आंचल जब निशा ने

शाम ढली छुपने लगे  नज़ारे
टिमटिमाने  लगे नभ में  तारे
लहराया आंचल जब निशा ने
जगमगाने  लगे  चाँद सितारे

रेखा जोशी