Thursday, 11 June 2015

है मिली अब हमें ख़ुशी साजन


अब यहाँ पर सजन नज़र रखिये 
दिल के दरिया की कुछ खबर रखिये
… 
आज जलता जहाँ हमें देख कर 
कांधे' पर तुम सजन न सर रखिये 
… 
बेखबर अब रहे न हम साजन
ख्याल अपना सदा इधर रखिये
....
है मिली अब हमें ख़ुशी साजन
प्यार की तुम सदा डगर रखिये 

रात ढलने लगी यहाँ साजन 
प्यार की तुम मगर सहर रखिये 

रेखा जोशी