Saturday, 27 June 2015

तूने ही जीवन मेरा सँवारा है

आज फिर इस दिल ने तुझे पुकारा है
इक  तू   ही  तो   जीने   का सहारा है
आ    जाओ  बैठे   है   राह   में    तेरी
तूने   ही   जीवन   मेरा    सँवारा    है

रेखा जोशी