Wednesday, 3 June 2015

हमे इक साथ तेरा ही हमेशा से गवारा है

हमीं मरते रहे तुम पर किया तुमने किनारा है 
चले आओ सजन तुम को यहाँ हमने पुकारा है
.
कभी चाहा नही दौलत हमारे पास हो साजन 
हमे इक  साथ तेरा ही हमेशा से गवारा है 
नही कोई हमारा अब यहाँ पर साथ देता जो 
मिला इक प्यारजो तेरा दिया जिसने सहारा है 
चलो चलते  सजन उस पार दुनियाँ के अकेले हम 
निभाना प्यार का रिश्ता सजन तुमने  हमारा है 
.
अभी तो रात ढलने में बहुत है देर अब साजन 
खुदाया आज मिलने का किया उसने इशारा है 

रेखा जोशी