Friday, 23 October 2015

आती रहें बहारें फूल खिलें गुलशन गुलशन

आती रहें खुशियाँ सदा  ज़िंदगी में आपकी
मुस्कुराते रहें  गुलाब  ज़िंदगी में आपकी
आती रहें बहारें  फूल खिलें गुलशन गुलशन
महकता रहे चमन सदा ज़िंदगी में आपकी

रेखा जोशी