Wednesday, 28 October 2015

चूमती पग नव उषाकिरण


मिलकर खुशियाँ मनायें हम 
पँख    सुनहरी  फैलायें   हम 
चूमती  पग  नव  उषाकिरण 
आसमाँ   को  छू  पायें   हम 

रेखा जोशी