Wednesday, 22 October 2014

आओ मनायें आज दिवाली


दीप जलाये सबने है रोशन जहान
सज रही सब गलियाँ सजा अब हिन्दुस्तान 
एक दीप तो जलाओ अपने अंतस में 
फैैले  उजियारा  करे दीप्त हर स्थान 

रेखा जोशी