Friday, 31 October 2014

तुम ही तुम समाये हो मेरे मन मंदिर में


जब से  मेरे नैनो ने तुमको  देखा   है 
हर इंसान से बस प्रेम करना सीखा है 
तुम ही तुम समाये हो मेरे मन मंदिर में 
दिल की किताब में नाम बस तेरा लिखा है 

रेखा जोशी