Sunday, 19 April 2015

सपनो को नैनो में भर के साजन [गीत ]

गीत 

सपनो को नैनो में भर के साजन 
अरमानो की डोली में बैठे हम 
 .... 
दिल में अब हलचल की इन नैनो ने 
आँखों में मेरे है सपने  तेरे 
कैसे रोकें मन को बालम  हम अब
यह क्या कर डाला है तुमने  साजन 
… 
जीवन में जिस दिन से आये  हो तुम 
खुशियाँ ही खुशियाँ अब लाये हो तुम 
है जागी चाहत  दिल में   मेरे अब 
महके  यह आँगन अब तुमसे साजन 
.... 

सपनो को नैनो में भर के साजन 
अरमानो की डोली में बैठे हम 
 .... 
रेखा जोशी