Saturday, 23 May 2015

गिरेगी बिजली आज तो फिर किसी पर

चेहरा   मासूम   आँखों  में  शरारत
है उपर भी क़यामत नीचे क़यामत
गिरेगी बिजली आज तो फिर किसी पर
ऐ खुदा रखना सदा  हम पे इनायत

रेखा जोशी