Monday, 25 May 2015

महक बसी तेरे प्यार की डायरी के पन्नों में


रखी   सँभाल  यादें   तेरी  डायरी  के  पन्नों  में 
लिख दी सभी बाते दिल की डायरी के पन्नों में
पढ़ के  उसे  पाता  फिर चैन ओ सकूँ दिल मेरा
महक  बसी  तेरे  प्यार  की  डायरी के पन्नों में

रेखा जोशी