Friday, 29 May 2015

एहसान तेरा है सजन जो अब मिला यह प्यार


कब   दी  हमारी  ज़िंदगी  संवार  कहते  आज 
यूँ  मत करो  हमसे सजन तकरार कहते आज 
एहसान  तेरा है सजन जो अब मिला यह प्यार 
होगा  हमे  सोचा  नही  यह  प्यार कहते आज 
रेखा जोशी