Monday, 25 May 2015

बहक गये दर्द की गलियों में हम तो

बातो में उन्हें आता है बहलाना
दिल तो हमारा पगला है दीवाना
बहक गये दर्द की गलियों में हम तो
दर्द का हमसे अब रिश्ता है पुराना
रेखा जोशी