Tuesday, 12 May 2015

तोड़ तोड़ खाना खट्टी अम्बियाँ पेड़ से

याद आया  बचपन वो खेलना खिलाना
अंबुआ  की   डाली पर  झूलना  झुलाना 
तोड़  तोड़  खाना  खट्टी अम्बियाँ  पेड़ से
छुपते छुपाते फिर वहाँ मिलना मिलाना

रेखा जोशी