Thursday, 28 May 2015

तुम वफ़ा प्यार में अब निभाया करों


ज़िंदगी में हुनर अब दिखाया  करो 
तुम मुहब्बत भी थोड़ी कमाया करो
… 
देखो' ना तुम हमें प्यार से यूँ सजन
दिल के' अरमान ना  यूँ जगाया करो
....
प्यार की राह में मुश्किलें हैं बहुत
तुम वफ़ा  प्यार में अब निभाया करों
....
हम सदा प्यार तुमसे करेंगे सजन
गैर से ना मगर  दिल लगाया करो

दो दिनों  की यहाँ ज़िंदगी है सजन
हर ख़ुशी तुम यहाँ अब मनाया करो

रेखा जोशी