Sunday, 2 November 2014

बन कर बेटी आसमान से उतरी इक परी

नन्हे  नन्हे   पाँव  जब वह  रखती  ज़मीन पर
मटकती  ठुमकती जब वह नाचती  ज़मीन पर
बन  कर  बेटी  आसमान  से  उतरी  इक   परी
मुस्कुरा   कर वह  दौड़ती  भागती  ज़मीन  पर

रेखा जोशी