Sunday, 16 November 2014

मिल जायेंगी मंज़िले तुम्हे

राह चाहे कठिन बहुत हो तो 
छूना गर  आसमाँ  चाहो तो 
मिल  जायेंगी  मंज़िले तुम्हे 
खुद पर अगर भरोसा हो तो

रेखा जोशी