Monday, 24 November 2014

साँसों की डोर प्रभु हाथ तेरे

हूँ  उड़ती  पतंग   नील गगन मै
लहराती   जाऊँ   संग  पवन  मै
साँसों  की  डोर  प्रभु   हाथ  तेरे
नित गाती जाऊँ यहाँ  भजन मै

रेखा जोशी